कोरोना वायरस: दुनिया में 75,000 से ज़्यादा की मौत, भारत में 114 लोगों की जान गई

यूरोप में 50 हज़ार और अमेरिका में 10 हज़ार से ज़्यादा लोगों की मौत कोरोना वायरस महामारी से हो चुकी है. जापान ने राजधानी टोक्यो समेत देश के छह इलाकों में आपातकाल की घोषणा की. ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन आईसीयू में भर्ती.

Iranian women wear masks to prevent contracting the coronavirus at the Grand Bazaar in Tehran as infections spread throughout the Middle East [File: Nazanin Tabatabaee/WANA via Reuters]

(फोटो: रॉयटर्स)

पेरिस/नई दिल्ली/वॉशिंगटन: कोरोना वायरस महामारी से दुनिया भर में 75,000 से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है. इसमें अधिकतर की मौत यूरोप में हुई है.

अमेरिका की जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के आंकड़ों के अनुसार, दुनिया भर में इस महामारी से अब तक 75,945 लोगों की मौत हो चुकी है, जिनमें से 53 हज़ार से अधिक लोगों की जान यूरोप में गई है.

विश्व में इससे संक्रमित होने वाले लोगों की संख्या 1,359,398 पहुंच गई है.

भारत की बात करें तो स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से मंगलवार सुबह बताया गया है कि यहां अब तक 114 लोगों की जान जा चुकी है और कुल संक्रमितों की संख्या 4,421 पर पहुंच गई है.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक देश में 3,981 लोग अब भी संक्रमित हैं, करीब 325 लोगों को इलाज के बाद अस्पताल से छुट्टी दी जा चुकी है और एक व्यक्ति विदेश जा चुका है. कुल मामलों में 66 विदेशी नागरिक हैं.

सुबह नौ बजे तक मंत्रालय के अद्यतन आंकड़ों के मुताबिक राजस्थान में तीन और लोगों की मौत हो गई जबकि त्रिपुरा में कोरोना वायरस का पहला मामला सामने आया है.

कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा 45 मौत महाराष्ट्र में हुई है. इसके बाद गुजरात में 12, मध्य प्रदेश में नौ, तेलंगाना और दिल्ली में सात-सात, पंजाब में छह और तमिलनाडु में पांच मौतें हुई हैं.

आंकड़ों के मुताबिक कर्नाटक में चार मौत हुई जबकि पश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश, आंध्र प्रदेश और राजस्थान में तीन-तीन लोगों की मौत हुई है. वहीं जम्मू-कश्मीर और केरल में दो-दो मौतें हुई हैं. बिहार, हिमाचल प्रदेश और हरियाणा में एक-एक व्यक्ति की मौत हुई है.

हालांकि राज्यों की ओर से सीधे जारी आंकड़ों के मुताबिक सोमवार रात तक देश में कम से कम 138 लोगों की मौत हुई है, जबकि संक्रमितों की कुल संख्या 4,683 है. इनमें से, 359 इलाज के बाद ठीक हो गए हैं.

New Delhi: A worker sprays disinfectant inside a government school which is used as shelter home during a nationwide lockdown in the wake of coronavirus pandemic, in New Delhi, Friday, April 3, 2020. (PTI Photo/Kamal Kishore)(PTI03-04-2020_000093B)

(फोटो: पीटीआई)

विभिन्न राज्यों द्वारा घोषित संख्या और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों में काफी अंतर है. अधिकारी इसके लिए प्रक्रियात्मक देरी बता रहे हैं जो इसे लेकर हो रही है कि कौन सा मामला किस राज्य से जुड़ा है.

देश में संक्रमण के सबसे अधिक 748 मामले महाराष्ट्र में हैं. इसके बाद तमिलनाडु में 621 और दिल्ली में 523 मामले हैं.

केरल में संक्रमित लोगों की संख्या 327, तेलंगाना में 321, उत्तर प्रदेश में 305 और राजस्थान में 288 हैं. आंध्र प्रदेश में कुल 226 लोग संक्रमित हैं.

मध्य प्रदेश में संक्रमण के मामले बढ़ कर 165, कर्नाटक में 151 और गुजरात में 144 हो गए हैं. जम्मू कश्मीर से 109, पश्चिम बंगाल में 91, हरियाणा में 90 और पंजाब में 76 मामले सामने आए हैं.

बिहार में 32 जबकि उत्तराखंड में 31 और असम में 26 मामले हैं. ओडिशा में 21, चंडीगढ़ में 18, लद्दाख में 14 और हिमाचल प्रदेश में अब तक 13 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई है.

अंडमान और निकोबार द्वीपसमूह और छत्तीसगढ़ से 10 मामले सामने आए हैं. गोवा में सात और पुदुचेरी में पांच लोग संक्रमित हैं.

वहीं, झारखंड में चार और मणिपुर में दो लोगों में जबकि त्रिपुरा, मिजोरम और अरुणाचल प्रदेश में एक-एक व्यक्ति में संक्रमण की पुष्टि हुई है.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने अपनी वेबसाइट पर कहा, ‘राज्यवार आंकड़ों की अभी और पुष्टि एवं मिलान किया जा सकता है.’

जापान के प्रधानमंत्री ने कुछ हिस्सों में आपातकाल की घोषणा की

टोक्यो: जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने देश में कोरोना वायरस के संक्रमण के मामलों में तेजी से इजाफा होने के बाद मंगलवार को टोक्यो, ओसाका और देश के पांच अन्य हिस्सों में एक महीने के आपातकाल की घोषणा की.

आबे ने मंगलवार को कहा, ‘ऐसे हालात बन रहे हैं जो लोगों के जीवन और अर्थव्यवस्था को बुरी तरह प्रभावित कर रहे हैं. मैं आपातकाल की घोषणा करता हूं.’

जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के आंकड़ों के अनुसार, जापान में अब तक 92 लोगों की मौत हो चुकी है और 3,906 लोगों के संक्रमित होने का पता चला है.

यूरोप में कोरोना वायरस से 50 हजार से ज्यादा लोगों की मौत

यूरोप में कोरोना वायरस महामारी के चलते सोमवार तक 50 हजार से ज्यादा लोगों की जान चली गई थी. जिनमें से ज्यादातर मौत इटली, स्पेन, फ्रांस और ब्रिटेन में हुई हैं.

A worker sanitises Ponte della Paglia bridge on St. Mark's square as a measure to fight against the coronavirus contagion in Venice, Italy [Manuel Silverstri/Reuters]

(फोटो: रॉयटर्स)

आधिकारिक आंकड़ों का अध्ययन करते हुए समाचार एजेंसी एएफपी ने सोमवार को अंतरराष्ट्रीय समयानुसार नौ बजकर 45 मिनट तक हुई मौतों की तालिका तैयार की. दुनिया में यूरोप में 50,209 के आंकड़े के साथ कोरोना वायरस से सर्वाधिक मौत हुई हैं और इस महाद्वीप में संक्रमण के कुल 6,75,580 मामले सामने आए हैं.

जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के अनुसार, सर्वाधिक प्रभावित इटली में कोरोना वायरस से अब तक 16,523 लोगों की मौत हुई और यह 132,574 लोगों में संक्रमण पाया गया.

स्पेन में 13,798 लोगों की जान गई है, जबकि 140,510 लोग संक्रमित हैं. यहां कोरोना वायरस से रोजाना मृत्यु का औसत आंकड़ा मंगलवार को 743 पहुंच गया.

कोविड-19 महामारी से फ्रांस में 8,911 लोगों की मौत और 98,984 लोगों में संक्रमण मिला है. वहीं ब्रिटेन में 5,373 लोगों की मौत हुई, जबकि 52,301 लोगों के संक्रमित होने का पता चला है.

अमेरिका में 10 हजार से ज्यादा लोगों की मौत

अमेरिका में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या सोमवार तक 10,000 से पार कर गई और इसके साथ ही देश इस इस खतरे से निपटने के लिए सबसे कठिन सप्ताह में प्रवेश कर गया है.

सोमवार तक इस खतरनाक वायरस से 10,800 लोगों की मौत हो चुकी है और 3,66,000 लोग इस वायरस से संक्रमित हो चुके हैं.

अमेरिकी वैज्ञानिक इसका टीका विकसित करने या सफल रूप से इसके इलाज की तलाश के लिए संघर्ष कर रहे हैं.

अमेरिका में न्यूयॉर्क इस वायरस का केंद्र बना हुआ है और इस शहर में मरने वालों की संख्या 4,758 तक पहुंच गई है और 1,30,000 से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं.

हालांकि यहां नए मामलों और मौत की दर धीमी हुई है. व्हाइट हाउस कार्य बल के सदस्यों ने कहा कि नए आंकड़ों के आधार पर गणना में बताया गया है कि इस वायरस से अब 1,00,000 से कम मौत की आशंका है.

इससे पहले की गणना में कहा गया था कि इस वायरस से देश में एक से दो लाख लोगों की मौत हो सकती है. ट्रंप ने व्हाइट हाउस में नियमित संवाददाता सम्मलेन में कहा कि रोकथाम की नई रणनीति से आशा मिली है.

उन्होंने कहा, ‘मेरा मानना है कि हमने काफी कुछ हासिल किया है लेकिन हमें अभी काफी चीजों से गुजरना है. हम फिर एक कठिन सप्ताह से गुजर रहे हैं. हो सकता है कि एक सप्ताह से ज्यादा समय तक हम कठिन समय से गुजरें लेकिन अंत में काली रात के बाद काफी रोशनी आएगी.’

बोरिस जॉनसन की आईसीयू में भर्ती

लंदन: कोरोना वायरस के लक्षणों से निजात न मिलने की वजह से अस्पताल में भर्ती ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन की स्थिति बिगड़ने के बाद उन्हें सघन निगरानी कक्ष (आईसीयू) में रखा गया है.

Britain's Prime Minister Boris Johnson addresses his supporters in front of the general election campaign trail bus in Manchester, Britain November 15, 2019. Frank Augstein/Pool via REUTERS

बोरिस जॉनसन. (फोटो: रॉयटर्स)

10 डाउनिंग स्ट्रीट ने यह जानकारी दी और कहा कि एहतियात के तौर पर यह उठाया कदम गया है क्योंकि स्वस्थ होने के लिए उन्हें वेंटिलेटर पर रखे जाने की जरूरत पड़ सकती है.

जॉनसन में कोरोना वायरस संक्रमण के लक्षण लगातार नजर आने के बाद लंदन के सेंट थॉमस अस्पताल में रविवार रात को उन्हें नियमित जांच के लिए भर्ती कराया गया था लेकिन सोमवार को उनकी स्थिति बिगड़ने के बाद उन्हें आईसीयू में ले जाया गया.

ब्रिटेन के कैबिनट ऑफिस के मंत्री माइकल गोव ने मंगलवार सुबह कहा,
‘प्रधानमंत्री को वेंटिलेटर पर नहीं रखा गया है. उन्हें ऑक्सीजन सपोर्ट दिया जा रहा है और उन्हें आईसीयू में रखने का एक कारण यह है कि उनकी मेडिकल टीम उनके लिए जो इलाज उपयुक्त समझे, वह उन्हें उपलब्ध कराया जा सके.’

जॉनसन में 12 दिन पहले कोरोना वायरस की पुष्टि हुई थी और वह 10 डाउनिंग स्ट्रीट स्थित अपने आवास से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये कोरोना वायरस वैश्विक महामारी के खिलाफ सरकार की नीति की अगुवाई कर रहे थे.

सोमवार को आईसीयू में भर्ती कराए जाने के बाद 55 वर्षीय जॉनसन ने ब्रिटेन के विदेश मंत्री डोमिनिक राब को फिलहाल उनकी जगह लेने को कहा है.

अस्थायी प्रभार संभालने के बाद राब ने कहा कि सरकार का काम वैश्विक महामारी को हराने की जॉनसन की योजनाओं को आगे ले जाने पर केंद्रित होगा.

राब ने कहा, ‘सरकार का कामकाज जारी रहेगा. प्रधानमंत्री सेंट थॉमस अस्पताल की उम्दा टीम की निगरानी में सुरक्षित हैं और सरकार का ध्यान कोरोना वायरस को हराने तथा देश को इस संकट से उबारने के लिए प्रधानमंत्री के निर्देशों, सभी योजनाओं को आगे बढ़ाने पर केंद्रित रहेगा.’

‍उन्होंने कहा कि जहां भी जरूरत होगी, वह जॉनसन के स्थान पर काम करेंगे.

ब्रिटेन समेत दुनियाभर के नेताओं ने बोरिस जॉनसन के जल्द स्वस्थ होने की कामना की है.

ब्रिटेन की गृह मंत्री प्रीति पटेल ने ट्विटर संदेश में कहा, ‘मेरा स्नेह एवं प्रार्थनाएं बोरिस जॉनसन और कैरी साइमंड्स तथा प्रधानमंत्री के परिवार के साथ है.’

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर कहा, ‘डटे रहिए प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन. आपके बहुत जल्द स्वस्थ होकर अस्पताल से आने की कामना करता हूं.’

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने व्हाइट हाउस में नियमित प्रेस वार्ता के दौरान संवाददाताओं से कहा, ‘हम यह सुनकर बहुत दुखी हैं कि उन्हें आईसीयू में ले जाया गया है. सभी अमेरिकी उनके ठीक होने की प्रार्थना कर रहे हैं.’

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) प्रमुख और संयुक्त राष्ट्र स्वास्थ्य एजेंसी के महानिदेशक ने भी जॉनसन के जल्द स्वस्थ होने की कामना की है.

फ्रांस के राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि जॉनसन जल्द इस कठिन स्थिति से उबर जाएंगे.

इटली के प्रधानमंत्री गुइसेप कोंटे ने कहा, ‘संयुक्त राष्ट्र स्वास्थ्य एजेंसी के महानिदेशक ने इस मुश्किल वक्त में इतालवी लोग ब्रिटेन के साथ हैं. हम एक-दूसरे के लिए खड़े हैं. जल्द स्वस्थ हो जाएं बोरिस जॉनसन.’

चीन में पहली बार मौत का एक भी मामला सामने नहीं आया

बीजिंग: चीन में मंगलवार को पहली बार ऐसा हुआ कि कोरोना वायरस वैश्विक महामारी से मौत का एक भी मामला सामने नहीं आया.

Fuyang: Government workers take the temperature of passengers as they exit a railway station in Fuyang in central China's Anhui Province, Wednesday, Jan. 29, 2020. Countries began evacuating their citizens Wednesday from the Chinese city hardest-hit by an outbreak of a new virus that infected more than 6,000 on the mainland and abroad. AP/PTI(AP1_29_2020_000028B)

(फोटो: एपी/पीटीआई)

राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने बताया कि चीन ने जनवरी से इस संबंध में आंकड़े प्रकाशित करने आरंभ किए थे. इसके बाद से पहली बार ऐसा हुआ है, जब इस घातक वायरस से किसी की मौत नहीं हुई है.

हालांकि चीनी भूभाग में मार्च से संक्रमण के मामलों में कमी आई है लेकिन देश में विदेशों से आ रहे संक्रमित लोगों की संख्या बढ़ रही है.

स्वास्थ्य अधिकारियों ने बताया कि विदेशों से करीब 1,000 संक्रमित लोग चीन में आए हैं. चीन में संक्रमण के 81,718 मामले सामने आए हैं, जबकि 3,331 लोगों की मौत हो चुकी है.

ईरान ने कहा, मामलों में धीरे धीरे कमी आ रही

तेहरान: ईरान ने सोमवार को कहा कि देश में कोरोना वायरस से संक्रमण के मामलों में धीरे धीरे कमी आ रही है हालांकि यह बीमारी अब भी नियंत्रण से दूर है. इस बीमारी के कारण ईरान में पिछले 24 घंटों में 136 लोगों की मौत हो गई.

नए आंकड़ों से पता लगता है कि लगातार छठे दिन इसमें कमी आई है. 31 मार्च को संक्रमण की संख्या सबसे उच्च स्तर 3111 पर पहुंच गई थी. ईरान में मंगलवार तक 3,872 लोगों की मौत हो चुकी थी और संक्रमण की संख्या बढ़कर 62,589 पहुंच गई है.

स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रवक्ता कियानुश जहांपौर कहा कि सामाजिक दूरी की नीति को प्रभावी ढंग से लागू किए जाने के कारण हाल के दिनों में नए मामलों की संख्या में धीरे-धीरे गिरावट देखी गई है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)

The post कोरोना वायरस: दुनिया में 75,000 से ज़्यादा की मौत, भारत में 114 लोगों की जान गई appeared first on The Wire - Hindi.