गुजरात: पार्टी नेताओं पर आपत्तिजनक पोस्ट के आरोप में भाजपा आईटी सेल कार्यकर्ता गिरफ़्तार

गुजरात के सूरत शहर में आईटी सेल के साथ काम कर रहे भाजपा के एक सदस्य नीतेश वनानी की गिरफ़्तारी के बाद भाजपा अध्यक्षों और विभिन्न वार्डों के महासचिवों ने सोशल मीडिया पर अपने इस्तीफ़े की घोषणा की.

गुजरात के सूरत शहर में आईटी सेल के साथ काम कर रहे भाजपा के एक सदस्य नीतेश वनानी की गिरफ़्तारी के बाद भाजपा अध्यक्षों और विभिन्न वार्डों के महासचिवों ने सोशल मीडिया पर अपने इस्तीफ़े की घोषणा की.

(फोटो: पीटीआई)

(फोटो: पीटीआई)

सूरत: गुजरात के सूरत शहर में आईटी सेल के साथ काम कर रहे भाजपा के एक सदस्य को पार्टी के शहर अध्यक्ष और पार्टी के अन्य नेताओं के खिलाफ 19 अलग-अलग फेसबुक अकाउंट के माध्यम से आपत्तिजनक पोस्ट करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. उन्हें मंगलवार तक के पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया है.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, आरोपी नीतेश वनानी को सूरत ग्रामीण साइबर अपराध के अधिकारियों ने बीते 23 मई को एक गुप्त सूचना के बाद गिरफ्तार किया था.

सूरत ग्रामीण साइबर अपराध शाखा के इंस्पेक्टर प्रशांत खोखरा ने कहा, ‘हमने आरोपी नीतेश वनानी को आपत्तिजनक और घृणास्पद पोस्ट डालने और राजनीतिक नेताओं को सोशल मीडिया पर बदनाम करने के आरोप में गिरफ्तार किया है. इस तरह के मैसेज 19 अलग-अलग फर्जी फेसबुक अकाउंट से भेजे गए थे, जिनमें से 12 का आरोपी इस्तेमाल कर रहा था. हम यह पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि बाकी का इस्तेमाल कौन कर रहा था.’

सूरत जिले के पलसाना तालुका के जोलवा गांव निवासी सामाजिक कार्यकर्ता विभाभाई चोसला ने 21 मई को सूरत शहर के कटारगाम निवासी वनानी के खिलाफ फेसबुक पर भाजपा कार्यकर्ताओं और नेताओं के खिलाफ नफरत भरे पोस्ट और आपत्तिजनक टिप्पणी करने के लिए शिकायत दर्ज कराई थी जिसके बाद गिरफ्तारी की गई थी.

चोसला द्वारा दिए गए विवरण के आधार पर सूरत साइबर अपराध अधिकारियों ने आईपीसी की धारा 153 (ए), 153 (बी), 292, 293, 294 (बी), 470, 471, 417, 419, 120 (बी), 34 और आईटी धारा 66 (डी) और 67 के तहत मामला दर्ज किया.

पुलिस शिकायत के अनुसार, आरोपी ने भाजपा नेताओं को बदनाम करने वाली टिप्पणी पोस्ट करने के लिए अलग-अलग फर्जी अकाउंट बनाए थे.

कॉमर्स में ग्रेजुएट और पेशे से रियल एस्टेट ब्रोकर वनानी सूरत में भाजपा के एक सक्रिय सदस्य थे और आईटी सेल के साथ काम करते थे.

वनानी की गिरफ्तारी के बाद भाजपा अध्यक्षों और विभिन्न वार्डों के महासचिवों ने सोशल मीडिया पर अपने इस्तीफे की घोषणा की.

सूरत शहर के भाजपा अध्यक्ष निरंजन जंजमेरा ने कहा, ‘हमें पता चला है कि भाजपा नेताओं में गुस्सा है, लेकिन किसी ने भी व्यक्तिगत रूप से इस्तीफा नहीं दिया है.’